• Fri. Sep 24th, 2021

GETREALKHABAR

E News/educational stories, poem and life style/only clean content

पचास के बाद की पछवा हवा भाग -8

Byuser

Mar 17, 2021

– लगातार भाग 7 से आगे –
दोपहर का खाना खाने के बाद राम ,हरी और उनकी पत्नियाँ अपने अपने कमरे में चले जाते हैं| खाना खाने के दौरान ही वे तय कर चुके थे कि आज शाम 5 बजे आगे कैसे, क्या करना है इस पर बिचार बिमर्श करेंगे |
माधवी घड़ी की तरफ देखती हुई हरी से कहती है कि 5 बजने में 20 मिनट ही बाकी रह गई हैं आप 5 बजते ही दीदी के कमरे में चलना में आप सभी के लिए चाय लेकर निर्धारित समय पर आ जाऊँगी ऐसा कहकर वह रसोई की तरफ चली जाती है |
जैसे ही घड़ी ने 5 बजने का संकेत दिया हरी अपने कमरे से उठकर राम के कमरे की तरफ आते हुए बाहर से भैया कहकर आबाज़ लगाता है राम भी अंदर से ही आबाज देता है की अंदर आ जाओ | हरी कमरे में प्रवेश करता है , पीछे से माधवी भी चाय की ट्रे हाथ में लिए कमरे के अंदर दाखिल होती है |पुर्बी माधवी से मुखातीव होते हुए कहती है अरे माधवी तो चाय बनाकर भी ले आई तो माधवी हँसती हुई कहती है कि चाय के साथ चर्चा करने आनन्द ही कुछ अलग है ,राम भी माधवी का साथ देते हुए कहता है कि हाँ ये बात तो बिल्कुल सही है और चारों हंस पड़ते हैं |
वैसे तो उनके आगे समस्या बहुत गंभीर थी लेकिन वे नहीं जानते थे की इसका क्या समाधान होगा फिर भी चारों एक साथ इस पर चर्चा कर रहे थे कि कोई ना कोई तो समाधान निकलेगा ही | चाय की चुस्की लेते हुए हरी ,पुर्वी से कहता है की भावी आप ही कुछ समाधान बताइए कि आगे क्या ,किया जाए ?
पुर्वी कुछ सोचते हुए कहती कि मेरे हिसाब से तो तुम दोनों को कहीं नौकरी कर लेनी चाहिए अभी पुर्बी कुछ आगे कहने ही बाली होती है की राम बीच में ही बोल पड़ता है कि तुम क्या सोचती हो नौकरी ऊपर ही पड़ी है जो तुरंत ही मिल जाएगी और फिर ऐसी वैसी नौकरी तो अपने से होने से रही तो खीजकर पुर्वी बोली तो अच्छा तुम ही कोई समाधान बताओ |
राम काफी देर तक सोचता रहता है, फिर अचानक उसके दिमाग में बिजली सी कौंधती है और वह सभी से मुखातिब होते हुए कहता है की मेरे पास एक आइडिया है अगर तुम सबको अच्छा लगे, इतने में हरी कहता है की भाई शीघ्र बताओ तो राम कहता है की क्यूँ ना हम अगले सीजन की फसल का एडवांस में महाजन से जमीन का ठेका देकर पैसा ले लें इससे हमारी समस्या का समाधान भी हो जाएगा और हमें नौकरी तलाश करने का समय भी मिल जाएगा|
सभी को राम की बात ठीक लगती है सभी इसके लिए हामी  भर देते हैं | ( इससे आगे की कहानी अगले अंक में )

Leave a Reply