• Fri. Sep 24th, 2021

GETREALKHABAR

E News/educational stories, poem and life style/only clean content

पूर्व चीफ मिनिस्टर की रिश्तेदार और अपने समय की पीएचडी शिक्षक फुटपाथ पर जीवन गुजारती

Byuser

Sep 10, 2021

पूर्व चीफ मिनिस्टर की रिश्तेदार और अपने समय की पीएचडी शिक्षक फुटपाथ पर जीवन जीने को मजबूर जी हाँ इनकी पहचान इरा बसु के रूप में हुई है इन्होने एक स्कूल में बतौर शिक्षक 34 साल बिताए,यही नहीं वे केवल एक शिक्षिका ही नहीं हैं। उन्होंने पश्चिम बंगाल राज्य स्तरीय एथलेटिक्स में 100 मीटर दौड़ का खिताब जीता। इसके अलावा उन्होंने टेबल टेनिस और क्रिकेट भी खेला।
फर्राटेदार अंग्रेजी, वायरोलॉजी में PhD, लेकिन जिंदगी फुटपाथ की । ये कहानी है इरा बसु की। इरा बसु पश्चिम बंगाल में दो बार मुख्यमंत्री रहे वामपंथी नेता बुद्धदेव भट्टाचार्य की पत्नी मीरा भट्टाचार्य की बहन हैं। भट्टाचार्य पश्चिम बंगाल में 10 साल तक मुख्यमंत्री रहे।
इरा बसु पिछले दो साल से फुटपाथ पर गुजर-बसर कर रही हैं।जब उनकी पहचान के साथ उनकी स्टोरी बायरल हुई तो उन्हें बेहतर इलाज के लिए कोलकाता के एक अस्पताल में ले जाया गया। पर सवाल ये है कि भारत में अब बुजुर्गों की ये दशा क्यों हो रही है | जब अच्छी पृष्ठ भूमि से होने के वावजूद इरा वसु की ये हालत है तो गरीब तबके के बुजुर्गों के वारे में सिर्फ अनुमान ही लगा
पूर्व मुख्यमंत्री से रिश्ता जोड़ने पर होती है तकलीफ
एक पूर्व मुख्यमंत्री के साथ संबंधों पर इरा कहती हैं, ‘इससे उन्हें बहुत परेशानी होती है, मुझे उनसे कोई फायदा नहीं हुआ, मैं वीआईपी के साथ नहीं बैठना चाहती, कई लोगों को हमारे पारिवारिक रिश्ते के बारे में पता है।’ इरा को बुद्धदेव भट्टाचार्य की कई सभाओं में भी देखा गया था।
स्थानीय लोगों का कहना है कि फुटपाथ पर रहने के बावजूद इरा ने कभी किसी से भीख नहीं मांगी। वे चाय तक अपने पैसे से खरीद कर पीती हैं।
एक होटल से रोजाना खुद के लिए भात, दाल, सब्जी खरीदकर ले जाती हैं। कोई खाना देता है तो लेने से इनकार कर देती हैं।

Leave a Reply