• Fri. Sep 24th, 2021

GETREALKHABAR

E News/educational stories, poem and life style/only clean content

आतंक पर पाकिस्तान फिर बेनकाब

Byuser

Aug 2, 2021

आतंकवाद की निति को लेकर पाकिस्तान फिर बेनकाब हुआ है। एफएटीएफ की ग्रे लिस्ट से बचने की लगातार कोशिश में जुटे पकिस्तान की एक बार फिर से पोल खुल गई है। दुनिया की आंख में धूल झोंककर पाकिस्तान आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को पाकिस्तान में ही छिपाये हुए है । रिपोर्ट के मुताबिक मसूद अजहर पाकिस्तान के बहावलपुर में है ,जिसकी सुरक्षा में पाकिस्तान के सुरक्षाबल तैनात रहते हैं । इससे ये फिर से साफ हो गया है कि पाकिस्तान आतंकवाद का पनाहगाह है।
इस खुलासे के बाद पाकिस्तान की मुश्किलें बढ़ने बाली हैं। पाकिस्तान के एफएटीएफ की ग्रे लिस्ट से बाहर निकलने की उम्मीदें भी धूमिल होती नजर आ रही हैं । दुनिया के सामने अब यह सिद्ध हो गया है कि पाकिस्तान आतंकवाद पर कार्रवाई करने के बजाए उसका पालन पोषण करता है। उसने अंतरराष्ट्रीय आतंकी अजहर को अपने ही घर में छिपा के रखा हुआ है। पाकिस्तान कई बार एफएटीएफ की ग्रे लिस्ट से बाहर निकलने की कोशिश में जुटा है। ग्रे लिस्ट से बाहर निकलने की पाकिस्तान की छटपटाहट यूं ही नहीं है। कंगाल हो चूका पाकिस्तान आर्थिक संकट से जूझ रहा है।
एक रिपार्ट में कहा गया है कि आतंकवादी अजहर पाकिस्तान के बहावलपुर में सुरक्षित है। उसका एक ठिकाना बहावलपुर में उस्मान-ओ-अली मस्जिद के पास और दूसरा अड्डा जामिया मस्जिद, सुभान अल्लाह में है। अजहर के घर के रखवाली की जिम्मेदारी पाकिस्तान की है। अजहर के घर की सुरक्षा में हथियारबंद सुरक्षाकर्मी तैनात रहते हैं। आतंकवादी के आवास के आसपास तरह की ब्यबस्था की गई है कि परिंदा भी पर नहीं मार सकता । भारत का सबसे बड़ा दुश्मन पाकिस्तान सरकार के नाक के नीचे पूरे ऐशो आराम से रह रहा है।
इस खुलासे के बाद केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा ने रविवार को कहा कि इस खुलासे के बाद आतंकवाद के खिलाफ भारत की लड़ाई को और बल मिलेगा। केंद्र सरकार इस मामले को वैश्विक मंच पर जोरदार तरीके से उठाएगी। उधर, भाजपा सांसद राकेश सिन्हा ने कहा कि इस खुलासे ने पाकिस्तान को बेनकाब कर दिया है। आखिरकार इमरान खान का सच सभी के सामने आ गया है। उन्होंने ने भी इस मुद्दे को दूसरे देशों के सामने संयुक्त राष्ट्र में उठाने की मांग की।
बता दें कि इस आतंकी संगठन की स्थापना का मुख्य उद्देश्य जम्मू और कश्मीर की घाटी में हिंसा फैलाना है। जैश-ए-मोहम्मद पाकिस्तान का एक आतंकी संगठन है, जिसका प्रमुख उद्देश्य भारत से कश्मीर को अलग करना है। इसके अलावा यह संगठन पश्चिमी देशों में भी आतंक फैलाने का काम करता है।

Leave a Reply