• Thu. Sep 16th, 2021

GETREALKHABAR

E News/educational stories, poem and life style/only clean content

LAC पर वार्ता से निकलेगा समाधान या चीन फिर करेगा हैरान

Byuser

Jul 31, 2021

नई दिल्ली। LAC पर चल रहे तनाव को खत्म करने के लिए भारत-चीन के मिलिट्री ऑफिसर्स की 12वें दौर की बातचीत सुबह 10 बजे से शुरू होने की संभावना है। जानकरी के मुताबिक चीन ने पहले 26 जुलाई को बातचीत की पेशकश की थी। लेकिन भारत ने कारगिल विजय दिवस की वजह से मीटिंग को किसी और दिन करने की मांग की थी।
भारत का फोकस गोगरा, हॉट स्प्रिंग और देपसांग में 900 किलोमीटर इलाके में जारी तनाव को खत्म करने पर है। साथ ही भारत गोगरा और हॉट स्प्रिंग में सभी मुद्दों को तत्काल हल करना चाहता है, क्योंकि देपसांग पर आम सहमति बनने में समय लग सकता है। आपको बता दे कि पूर्वी लद्धाख में डेमचोक के चारदिंग नाला इलाके में चीन के सैनिक टेंट लगा कर वहां रह रहे है। वहां रहने वाले नागरिक मना कर रहे हैं, बावजूद वो इलाके को खाली नहीं कर रहे हैं।
इससे पहले 11 राउंड की बैठक हो चुकी है। इस बैठक में भारत और-चीन मिलिट्री डिसएंगेजमेंट के लिए राजी हुए हैं। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने 11 फरवरी को संसद में इसके बारे में जानकारी दी थी। रक्षा मंत्री ने बताया था डिसएंगेजमेंट के लिए 7 फैसले हुए हैं। फैसले के मुताबिक दोनों देश की सेना पीछे हटेगी। चीनी सैनिक फिंगर 8 के पास रहेंगे। दोनों देश की तरफ से सीमा पर जो भी निर्माण किया गया है उसे तोड़ा जाएगा।
कि आप जानते हैं गलवान में हुई हिंसक झड़प के बाद से भारत और चीन के रिश्ते खराब चल रहे हैं। दोनों की सेनाएं भारी हथियारों और हजारों सैनिकों के साथ आमने-सामने हैं। भारत ने आर्मी, एयरफोर्स और नेवी तीनों के खतरनाक कमांडो इस इलाके में तैनात कर रखे हैं। फाइटर जेट कई महीने से लगातार उड़ान भर रहे हैं। लंबी तैनाती के हिसाब से भारत ने रसद समेत दूसरा जरूरी सामान LAC पर पहले ही पहुंचा दिया है ।
लेकिन सवाल फिर वहीँ का वहीँ है कि चीन वार्ता के जरिये समस्या का समाधान निकालने के लिए कितना गंभीर है या फिर टकराब का रास्ता चुनकर इस समस्या को लम्बा खींचना चाहता है |

Leave a Reply