• Thu. Sep 16th, 2021

GETREALKHABAR

E News/educational stories, poem and life style/only clean content

सरकार का सुप्रीम कोर्ट में हलफ़नामा कोरोना से युद्ध स्तर पर निपट रहे हैं

Byuser

Apr 28, 2021

गृह मंत्रालय ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा देकर कहा

सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में हलफ़नामा देते हुए कहा है कि यह झूठ है कि कोरोना महामारी की पहली लहर के बाद कोई कदम नहीं उठाया गया और सरकार दूसरी लहर से अनभिज्ञ बनी रही। अस्पतालों तक पर्याप्त आक्सीजन पहुंचाने और रेमडेसिविर का उत्पादन बढ़ाने के लिए युद्धस्तर पर कदम उठाए जा रहे हैं। गृह मंत्रालय ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा देकर यह बात कही है। देश में अचानक आक्सीजन की कमी पर भी सरकार ने पक्ष रखा है। सरकार ने कहा कि किसी भी देश में मेडिकल आक्सीजन असीमित नहीं हो सकती है। देश में उपलब्ध आक्सीजन सभी राज्यों को खासकर कोविड-19 के ज्यादा मामलों से जूझ रहे राज्यों को संतुलित तरीके से मुहैया कराई जा रही है।

मंत्रालय ने कहा कि संक्रमण के मामलों में अप्रत्याशित बढ़ोतरी के कारण उपलब्ध संसाधन के हिसाब से कुछ मुश्किल हुई, जिससे पेशेवर तरीके से निपटना होगा। आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, सरकार की ओर से उठाए गए कदमों पर 200 पन्नों के हफलनामे में कहा गया कि मेडिकल आक्सीजन की कमी से निपटने के लिए स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय युद्ध स्तर पर 162 पीएसए संयंत्र लगाने की प्रक्रिया में है। सरकार ने आक्सीजन संसाधन को जुटाने के लिए तमाम प्रयास शुरू कर दिए हैं और उपलब्ध सभी स्रोतों से और आक्सीजन हासिल करने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं।

हलफनामे में कुछ राज्यों में आक्सीजन की मांग और उत्पादन की स्थिति का भी उल्लेख किया गया है। महामारी के दौरान लोगों नागरिकों की परेशानियों और कष्टों को हल्के में लेने के आरोपों को भी केंद्र ने नकार दिया। सरकार ने कहा कि दिक्कतें दूर करने और जान के नुकसान को कम करने के लिए त्वरित, ठोस और समग्र कदम उठाए जा रहे हैं। सरकार ने कहा है कि वह संक्रमण के अप्रत्याशित मामलों के बावजूद युद्ध स्तर पर इससे निपटने के लिए तमाम प्रयास कर रही है, साथ ही कुछ न करने के झूठ से भी निपट रही है।

 

Leave a Reply