• Fri. Sep 24th, 2021

GETREALKHABAR

E News/educational stories, poem and life style/only clean content

ऑक्सीजन पर ऑडिट ने खोली केजरिवाल सरकार की पोल चार गुना ज्यादा की डिमांड |

कोरोना की दूसरी लहर के दौरान पैदा हुए ऑक्सीजन संकट को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने एक टास्क फोर्स बनाई थी |अब इसकी शुरुआती रिपोर्ट सामने आई है, जिसमें डेलह सरकार पर गंभीर आरोप लगाए गए हैं |
कोरोना की दूसरी लहर के दौरान देश में पैदा हुए ऑक्सीजन संकट से काफी हाहाकार मचा था |शहरों में लोग ऑक्सीजन के लिए भटक रहे थे , इसी दौरान सुप्रीम कोर्ट ने एक ऑक्सीजन ऑडिट टीम बनाई थी जिसकी रिपोर्ट में दिल्ली सरकार पर कई गंभीर आरोप लगाए गए हैं | रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली सरकार 1200 मेट्रिक टन गैस की डिमांड का सोर मचा रही थी उस समय सिर्फ 300 मेट्रिक टन ऑक्सीजन की ही जरूरत थी |
राज्यों को हुई परेशानी :-
रिपोर्ट में दावा किया गया है कि दिल्ली सरकार की इसी मांग के कारण करीब 12 राज्यों में ऑक्सीजन की किल्लत पैदा हुई कियोंकि अधिक डिमांड के कारण दूसरे राज्यों को मिलने बाली ऑक्सीजन भी दिल्ली सप्लाई की जा रही थी |
ऑडिट पैनल की रिपोर्ट के बाद बयानबाजी तेज :-
ऑडिट पैनल की इस रिपोर्ट के बाद राजनीतिक प्रतिक्रियाएं आ रही हैं |केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने ट्वीट कर लिखा है कि ऑक्सीजन की मांग से चार गुना ज्यादा डिमाण्ड से दूसरे प्रदेशों को नुकसान उठाना पड़ा | शोर मचाना तो कोई दिल्ली सरकार से सीखे |
दिल्ली बी जे पी के नेता विजेंदर गुप्ता ने लिखा है कि चार गुना ज्यादा डिमांड के बावजूद केंद्र ने ऑक्सीजन सप्लाई दी फिर भी यह ऑक्सीजन अस्पताल तक नहीं पहुचाई जा सकी और लोगों को ब्लैक में ऑक्सीजन खरीदनी पड़ी |

Leave a Reply