• Fri. Sep 24th, 2021

GETREALKHABAR

E News/educational stories, poem and life style/only clean content

हमारी खराब आदतों से होने बाली बीमारीयां बचाव और उपचार

Byuser

Mar 10, 2021

आज के भागमभाग बाले दौर में लोग दबाओं के सहारे अपने जीवन को बीमारियों का बोझा समझकर जिए जा रहे हैं यहाँ हम यदि थोड़ा  सजग रहकर जीवनशैली को बदलकर बीमारियों से दूर रह सकते हैं यंहा हम बीमारी होने के कारणों की पड़ताल भी करेगें और उससे बचने के उपाय पर भी चर्चा करेंगे |बीमारी होने की दो प्रमुख वजह इस प्रकार हैं –

01 खाने पीने की गलत आदतें :-

सबसे पहले हम खाने पीने की गलत आदतों से होने बाली बीमारियों के वारे में बात करते हैं अक्सर घर के बुजुर्ग लोगों को कहते सुना होगा की बेटा बाहर का कुछ भी मत खाना घर से खाना बनबाकर ले जाना इसका मतलब है कि बाहर के खाने से उन्हें पहले परेशानी आई होगी तभी वे अपने अनुभव के आधार पर अपने परिवार के मेंबरों को बाहर का खाना खाने से मना करते हैं लेकिन क्या यही कारण है ,नहीं बाहर के खाने से होने बाली बीमारियों की और भी वजह हैं जो हमें समझनी  पड़ेंगी –

01 जो खाना हम खा  रहे हैं उसको बनाते समय सफाई का ध्यान ना रखा गया हो|

02 जो खाना हम खा  रहे हैं उसको बनाते समय उसमें डाली गई सामग्री की क्वालिटी का खराब होना |

03  जो खाना हम खा  रहे हैं उसको बनाते समय बनाने बाले स्वं सफाई का ख्याल ना रखते हों

04 ज्यादा मसालेदार खाना /ज्यादा मात्रा में खाना

05 चीनी /मैदा /नमक /चावल का अधिक मात्रा में सेवन

उपर के सभी  कारण देखने में बिल्कुल मामूली दिखाई पड़ते हैं लेकिन इन कारणों की वजह से हजारों किस्म की बीमारियाँ हमारे मुंह के द्वारा हमारे शरीर में प्रवेश कर जाती हैं और ला इलाज हो जाती हैं इनमें से कुछ आम बीमारियाँ

01 डायरिया :- ये बीमारी खाने या हातों  की ठीक से सफाई ना रखने से होने वाली काभी आम बीमारी है जो कभी कभी फूड पॉइसनिग के कारण जानलेबा भी हो जाती है |

02  अल्सर  :- लगातार ज्यादा तेज मसाले ,लाल मिर्च और तीखी हरी मिर्च खाने के कारण होती है |

03 कैंसर :- कैंसर होने का सही कारण तो अभी तक पता नहीं चल पाया है लेकिन ज्यादातर मामले बताते हैं की ज्यादा शराब /धूम्रपान केंसर होने का सबसे बड़ा  कारण है लेकिन ऐसा मनना है की मैदा को फ्राइ करके बनाए गए पकवान केन्सर होने का एक बड़ा  कारण हैं |

04 त्वचा रोग :- त्वचा रोग यानि खून की खराबी बिरुद्ध खाना खाने के कारण होती है जेसे नमक के साथ दूध का उपयोग करना  ज्यादा तला भुना खाना |

05 उच्च रक्त ताप /ह्रदय रोग :-उच्च रक्त ताप /ह्रदय रोग की बीमारी अधिकतर ज्यादा बसायुक्त खाना खाने/नमक का अधिक मात्रा में उपयोग करने के कारण होती है |

06 वात रोग :- वेसे तो वात रोग होने के भिन्न भिन्न कारण हैं जैसे वात रोग कई प्रकार का होता है वेसे ही वातरोग को बिस्तार देने में खान  पान की मुख्य भूमिका होती है कम पोषण  वाला खाना ,खाने के माध्यम से कुछ बाहरी विषाणु का शरीर में प्रवेश होने के कारण भी वात रोग होने की पूरी संभावना रहती है |

02 जीवन में अनुशासन की कमी:

वेसे तो सीधे तौर पर जीवन में अनुषाशन की कमी रोग पैदा करने का कारण नहीं है लेकिन सही दिनचर्या ना होने के कारण मसलन समय पर ना सोना,समय पर ना उठना,समय पर खाना ना खाना या समय कसरत ना करने से शरीर है  तेजहीन तो होता ही है साथ ही हमारी रोगों से लड़ने की क्षमता कम  होने लगती है और जिन  बीमारियों को हमारा शरीर स्वयं ठीक कर सकता है उन्हें दबाओं के सहारे ठीक करने की कोशिश की जाती है उन दबाओं का दुष्प्रभाब हमारे शरीर में कई और बीमारियों को को जनम देता है और ये  चक्र चलता रहता  है |

रोगों से बचाव /उपचार :-

जेसे ऊपर रोग होने के कारणों को बिस्तार से बताया गया है वेसे ही  यदि उन कारणों को अलग कर दिया जाए तो वही बीमारी होने से दूर रहने के उपाय हैं  |रोगों की चिकित्सा लेने के साथ उन कारणों पर ध्यान दिए जाने की आवस्यकता है  जो रोग होने के कारण रहे हैं अंग्रेजी दवाओं के साथ प्राकर्तिक उपचार यानि देसी जड़ी बूटीओं  का  सहारा लेकर गंभीर बीमारियों से निजात पाने में सफलता पाई जा सकती है अथवा बीमारी के के दुष्प्रभाव को कम  किया जा सकता है |निष्कर्ष यह है कि वाकी सभी कामों की तरह हम सभी को अपने शरीर और मन दोनों को ठीक रखने के लिए खान पान के साथ योग और कसरत के लिए समय देना ही चाहिए चाहे हम किसी भी उम्र के क्यों ना हों शरीर में रोग ना लगे इस तरफ विशेष जोर दिया जाना चाहिए |

 

 

 

 

One thought on “हमारी खराब आदतों से होने बाली बीमारीयां बचाव और उपचार”
  1. अपने आप को फिट रखना हम सब की जिम्मेदारी है स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मन का निवास होता है |

Leave a Reply