• Fri. Sep 24th, 2021

GETREALKHABAR

E News/educational stories, poem and life style/only clean content

पचास के बाद की पछवा हवा भाग 4

Byuser

Mar 13, 2021

अब तक आपने पढ़ा केहर सिंह श्याम और रमा को अपने गाँव लेकर जाने के लिए उनके घर से बाहर आते हैं अब आगे –

श्याम अपनी पत्नी रमा के साथ  केहर सिंह और उनकी पत्नी के साथ घर से  आगे बढ़ता हुआ सोचता है की यदि रास्ते में महाजन मिल गया (जिससे श्याम ने कर्ज ले रखा है  ) तो समधीजी के सामने हमें यहाँ से जाते देखकर पैसों का जिक्र करके वेइज्जत ना कर दे बह मन ही मन प्रार्थना करता है की हे भगवान महाजन से सामना मत होने देना |

अभी वह सोच ही रहा था की सामने से महाजन आता हुआ दिखाई दिया इस समय श्याम की आंतरिक हालत का अंदाजा  ही लगाया जा सकता है की उसके अंदर क्या चल रहा है लेकिन उसे ताज्जुब तब होता है कि महाजन बिना कुछ कहे आगे बढ़ जाता है बल्कि उसे और केहर सिंह को हाथ जोड़कर राम राम भी करता है |

इस रहस्य को सिर्फ केहर सिंहऔर महाजन ही जानते थे दरअसल वो महाजन ही था जिसने केहर सिंह को उसके गांव जाकर श्याम की हालत की जानकारी दी थी तब केहर सिंह ने उसके श्याम पर बकाया सभी पैसों का भुगतान करते हुए बचन लिया था की वह ये बात किसी को नहीं बताएगा समय आने पर जब श्याम खुद तुम्हारा पैसा बापिस करे तब वो पैसे मुझे दे देना |

केहर सिंह जानते थे की श्याम बहुत खुद्दार इंसान है यदि उसे पता चल जाता की मैंने  महाजन का क़र्ज़ उतारा है तो वे अपने आपको लज्जित महसूस करते इसीलिए केहर सिंह ने ये बात अपनी पत्नी पर भी जाहिर नहीं होने दी उनको पता था की वह किसी न किसी के आगे जरूर इसका जिक्र कर देगी |

केहर सिंह श्याम और रमा के लिए ठहरने के लिए एक कमरा देते हैं जिसमें आज के दौर की सभी सुख सुबिधा हैं अंदर ही बाथरूम है अलमीरा में श्याम और रमा के लिए पहले से ही कपडे लेकर रखे हुए हैं केहर सिंह कहते हैं की आपको यहाँ काफी दिन ठहरना है इसीलिए ये सब इंतज़ाम में पहले से कर के गया था वहीँ श्याम कहता है की इन सब की क्या जरुरत थी कपडे तो हम साथ लाये ही हैं |

इसी तरह रहते हुए श्याम को कई दिन गुजर जाते हैं श्याम रोज केहर सिंह को कहता है की वह उन्हें खेत दिखा दे ताकि वो बता सके की खेतों को कैसे तैयार करके फसल बोनी है लेकिन केहर सिंह उसे रोज टालते रहते हैं की पहले थोड़ा आराम और करलो फिर खेतों के बारे में सोचेंगे धीरे धीरे यूँही एक माह गुजर जाता है अच्छा खाना पीना अच्छी देखभाल मिलने से एक महीने के अंदर ही श्याम की सेहत अच्छी हो जाती है | इससे आगे की कहानी आपको अगले भाग में पढ़ने को मिलेगी

Leave a Reply